Monday, January 12, 2015

कोई तो बता दो...

कोई तो बता दो
कि इंसान की पहचान
कैसे की जाए???
कुछ लोग कहते हैं
आँखों से इंसान
पहचाना जाता है
पर गर उसकी आँखें
ही झूठी हों तो क्या??
कुछ लोग कहतें हैं
दिल से इंसान की
पहचान होती है
पर गर उसकी
धड़कन गुम सी हो ???
जानती हूँ नहीं आसाँ है
किसी को समझ पाना
पर गर दिल किसी
को समझने की जिद करे
तो उस दिल का क्या करें !!!

13 comments:

  1. बहुत खूब ...यहाँ तो अपने ही दिल को समझ पाना मुस्किल है ....शुभकामनाएँ

    ReplyDelete
  2. wah ha wah wah ha wah.....

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर .
    नई पोस्ट : तेरी आँखें

    ReplyDelete
  4. बहुत सुंदर

    ReplyDelete
  5. पहचान और मुस्कान दोनों झूठी है हर इंसान की आज कल...सबने मुखौटा चढ़ा रखा है पहचान हो भी तो कैसे हो? सच्चाई को कुरेदते शब्द।

    ReplyDelete
  6. सच में इंसान की फितरत को पहचान पाना बेहद मुश्किल है...सुंदर रचना

    ReplyDelete
  7. आज 22/जनवरी/2015 को आपकी पोस्ट का लिंक है http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  8. बहुत सुन्दर ..मुश्किल जरूर है इंसान के पहचान

    ReplyDelete
  9. मन के भावो को खुबसूरत शब्द दिए है अपने...

    ReplyDelete
  10. इंसान ही ऐसा जीव है जिसको पहचान मुश्किल है ...

    ReplyDelete
  11. सच में इंसान की को पहचान पाना बेहद मुश्किल है...सुंदर रचना!

    ReplyDelete
  12. पहचानना भी मुशकिल हैं
    दिल जिद भी करे।

    वाह वाह।

    ReplyDelete