Thursday, April 18, 2013

बेटियाँ ...

एक प्यारे से सपने की तरह 
होती हैं बेटियाँ 

किसी के घर की रौनक 
तो किसी के घर की किलकारी होती हैं बेटियाँ 

किसी के घर की लाज 
तो किसी के घर का गुरूर होती हैं बेटियाँ 

किसी भी अनमोल खजाने से बढ़ कर 
बहुमूल्य होती हैं बेटियाँ 

किसी के दिल का सुकून 
तो किसी के सर का ताज  होती हैं बेटियाँ 

26 comments:

  1. Short Poem but Impressive. Good one.

    ReplyDelete
  2. और नहीं तो क्या.....
    यूँ ही नहीं हम बेटियों पर गर्व करते हैं माँ बाप.

    सुन्दर!!

    सस्नेह
    अनु

    ReplyDelete
  3. और नहीं तो क्या.....
    यूँ ही नहीं हम बेटियों पर गर्व करते हैं माँ बाप.

    सुन्दर!!

    सस्नेह
    अनु

    ReplyDelete
  4. सुंदर भाव..अनमोल हैं बेटियां !

    ReplyDelete
  5. बहुत अच्छा विचार ,बहुत अच्छा भाव ,यही विचार यदि हर माँ में सदा रहे तो भ्रूण हत्या बन्ध हो जाएगी
    latest post"मेरे विचार मेरी अनुभूति " ब्लॉग की वर्षगांठ

    ReplyDelete
  6. कुल मिलाकर बेटियाँ अच्छी होती हैं , प्यारी होती हैं , खुशियाँ होती हैं ..........

    ReplyDelete
  7. घर की रोनक होती हैं बेटियाँ ....
    उनसे पूछिए जिनके नहीं हैं बेटियाँ ....

    सुंदर भाव भरी रचना प्रतिभा जी ...

    ReplyDelete
  8. सब कुछ होती हैं बेटियाँ

    प्रसंशनीय प्रस्तुति

    ReplyDelete
  9. मर्मस्पर्शी रचना

    ReplyDelete
  10. पूरी तरह सहमत हूँ.

    ReplyDelete
  11. सच मे बहुत अनमोल होती हैं बेटियाँ।
    सुंदर रचना , आभार

    ReplyDelete
  12. सुंदर भाव ...

    ReplyDelete
  13. सुंदर भाव ...

    ReplyDelete
  14. सुंदर भाव ...

    ReplyDelete
  15. सुंदर भाव ...

    ReplyDelete
  16. बेटियों का बेटी द्वारा सुन्‍दर भावपूर्ण कविताई वर्णन। आपका चित्र भी बहुत फोटोजेनिक है।

    ReplyDelete
  17. बहुत बढ़िया रचना ..........

    ReplyDelete
  18. आपने लिखा....हमने पढ़ा
    और लोग भी पढ़ें;
    इसलिए कल 21/04/2013 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    आप भी देख लीजिएगा एक नज़र ....
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  19. बहुत - बहुत शुक्रिया यशवंत जी ...

    ReplyDelete
  20. बहुत सुन्‍दर रचना.

    ReplyDelete
  21. सुंदर भाव भरी रचना

    ReplyDelete
  22. बहुत सुन्‍दर रचना.

    ReplyDelete